डॉ प्रणव पण्डया ने हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने में दिया समर्थन

डॉ प्रणव पण्डया ने हिंदी को राष्ट्र भाषा बनाने में दिया समर्थन

खबर हलचल न्यूज़

देवास | अखिल विश्व गायत्री परिवार के प्रवर्तक डॉ. प्रणव पण्डया जी से हिन्दी को राष्ट्रभाषा बनाने हेतु समर्थन प्राप्त किया एवं डॉ.अर्पण जैन ‘अविचल’ की पुस्तक ‘हिन्दी आखिर क्यों?’ एवं ‘हिन्दीग्राम’ भेंट की |
डॉ. पण्डया जी ने सहर्ष स्वीकृति देते हुए हिन्दी ग्राम व मातृभाषा उन्नयन संस्थान द्वारा संचालित आन्दोलन का समर्थन किया | इस आशय का समर्थन पत्र डॉ पण्डया ने मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अर्पण जैन “अविचल” को सौंपा |
इस दौरान साप्ताहिक अपराधों की दुनिया से संपादक जितेन्द्र वामने ने अखबार भेंट किया | साथ में संस्थान के प्रदेश महासचिव प्रिन्स बैरागी एवं हिन्दी योद्धा लक्ष्मण जाधव साथ रहें |

Translate »