पत्नी एवं 3 बच्चो सहित लापता हुआ ग्रामीण , पुलिस जुटी जांच में*

*पत्नी एवं 3 बच्चो सहित लापता हुआ ग्रामीण , पुलिस जुटी जांच में*
*बड़वानी से कपिलेश शर्मा -* ग्राम वघाड़ से शहर से 3 किमी दूर गोई स्थित आ रहा युवक उसकी पत्नी और तीन बच्चे लापता हो गए। युवक की बाइक ससुराल से 400 मीटर दूर गोई नदी पुल के नीचे खड़ी मिली। युवक के ससुराल पक्ष की सूचना पर पुलिस ने बाइक जब्त कर गुमशुदगी दर्ज कर तलाश शुरू की है।

गोई निवासी तुलसीराम शनिवार सुबह दूध लेने जा रहा था। इस दौरान उसे गोई नदी के किनारे पगडंडी पर जीजा लाछा की बाइक खड़ी दिखी। लेकिन बहन लक्ष्मी, जीजा लाछा व उनके तीन बच्चे दिखाई नहीं दिए। इस पर उसने समझा कि शायद सुबह सुबह लघुशंका के लिए नदी के पास गए होंगे और वो दूध लेने चला गया। घर पहुंचने पर भी बाइक वहीं खड़ी दिखी। परिवार कहीं भी नजर नहीं आया। उसने अपने परिजनों से पूछा लेकिन जवाब मिला कि वे यहां नहीं आए। सभी जगहों पर फोन किया संतुष्टिजनक जवाब नहीं मिलने पर परिजन व आसपास के लोगो ंने नदी किनारे, गोई बैराज व आसपास के कुएं में तलाश किया। नहीं मिलने पर ग्रामीण थाना पुलिस को सूचना दी। सूचना मिलने पर थाना प्रभारी दिनेश चौहान, प्रधान आरक्षक संजय पाटीदार, मुकेश गोई पूल के नीचे पहुंचे। बाइक जब्त कर थाना परिसर में रखड़ी करवाई। गुमशुदगी दर्ज की।

*परिजनों के हालचाल पूछने गए थे वघाड़, शाम को हुई थी बात*

तुलसीराम और उसके छोटे भाई मुकेश खरते ने बताया लक्ष्मी का पति लाछा महाराष्ट्र के सतारा जिले में रहकर, मुकरदमी यानी मजदूर सप्लाय करने का कार्य करता है। वो दिवाली मनाने और मजदूर लेने आया था। पत्नी लक्ष्मी अपने बच्चों के साथ गोई स्थित मायके में रहती है। जिसमे बड़ी बेटी किरण (8), बेटा गणेश (7) और छोटी बेटी बिंदु (3) बताई गई। पूरा परिवार लक्ष्मी के बीमार नाना को देखने वघाड़ गांव गया था। शुक्रवार शाम को मुकेश के पास जीजा लाछा का फोन आया था कि सुबह 4 बजे सभी लोग गोई आ रहे हैं। जिसके बाद से उनसे कोई संपर्क नहीं हुआ।

बच्चो सहित कहां चले गए समझ नहीं आ रहा

दोनों भाइयों बताया लक्ष्मी उर्फ गुड्डी उनकी बड़ी बहन है जिसकी शादी डूडवे फलिया लवाणी निवासी लाछा पिता ग्यारसीलाल डूडवे से हुई थी। दोनों के तीन बच्चे दो लड़की एक लड़का है। लक्ष्मी की मां दुनाबाई पति जगदीश खरते ने बताया मेरी बेटी और जवाई बहुत खुश थे कोई लड़ाई झगड़ा नहीं था। वे बच्चों सहित अचानक कहां गायब हो गए। कुछ समझ नही आ रहा। मुकेश के अनुसार लाछा मजदूरों को लेकर रविवार को महाराष्ट्र वापस लौटने वाला था। वहीं गोई पुल के आसपास रहने वालों के अनुसार सुबह अंधेरे एक आदमी, औरत व बच्चों को नदी के दूसरी ओर जाते देखा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »