हिन्दी गौरव अलंकरण से विभूषित होंगे श्री छजलानी व श्री कुम्भज

135 Views

इंदौर । सर्वाधिक हिंदी प्रेमियों से सुसंगठित हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए प्रतिबद्ध ‘मातृभाषा उन्नयन संस्थान’ 24 फरवरी 2020, सोमवार को हिंदी पत्रकारिता के शिखर व दशकों तक नईदुनिया के प्रधान संपादक रहें पद्म श्री अभय छजलानी व अज्ञेय के चौथा सप्तक के अग्र कवि, वरिष्ठ साहित्यकार राजकुमार कुम्भज को हिंदी गौरव अलंकरण से विभूषित करेगा।
पद्मश्री अभय छजलानी हिंदी पत्रकारिता की नर्सरी माने जाने वाले अखबार नईदुनिया के शिखर स्तम्भ रहें है। हिन्दी पत्रकारिता की कोंपलों को उन्होंने बहुत करीने से सहेजकर पल्लवित होने में मदद की है। पत्रकारीय जीवन में वे नईदुनिया के संपादकीय बोर्ड के अध्यक्ष के रूप में कार्य करने के अलावा वर्तमान में कई महत्त्वपूर्ण सामाजिक दायित्व ‍भी निभा रहे हैं।
आपके नेतृत्व ने देश और दुनिया को हिंदी के कई शीर्ष संपादक मिलें जिनमें राजेन्द्र माथुर, प्रभाष जोशी, राहुल बारपुते, शरद जोशी आदि।
राजकुमार कुम्भज इन्दौर की साहित्य धरा के अल्हड़ और दीवाने कवि है जिन्हें अज्ञेय द्वारा संपादित चौथा सप्तक में सम्मिलित किया गया था। अब तक आपके लगभग 35 काव्य संग्रह प्रकाशित हो चुके हैं।
संस्थान द्वारा मातृभाषा दिवस के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में श्री छजलानी व श्री कुम्भज को हिंदी गौरव अलंकरण से सम्मानित किया जाएगा।
संस्थान के राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ अर्पण जैन ‘अविचल’ ने बताया कि पद्म श्री अभय छजलानी जी और राजकुमार कुम्भज जी निःसंदेह हिंदी के गौरव है, आप के अवदान को सदियों तक याद रखा जाएगा। संस्थान आपको सम्मानित कर स्वयं गौरवान्वित महसूस कर रही हैं।’
संस्थान की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. नीना जोशी ने हर्ष व्यक्त करते हुए श्री छजलानी व श्री कुम्भज जी के हिंदी के प्रति अनुराग को बताया।
मातृभाषा उन्नयन संस्थान के राष्ट्रीय महासचिव कमलेश कमल, राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष शिखा जैन, राष्ट्रीय सचिव गणतंत्र ओजस्वी, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य मुकेश मोलवा सहित अंजलि वैद, जलज व्यास, लक्ष्मण जाधव, गफ्फार खान आदि ने शुभकामनाएँ दी।

Translate »