महानायक अमिताभ बच्चन ने जीता सबका दिल, 1348 किसानों का चुकाया 10 करोड़ का कर्ज*

19 Views

*महानायक अमिताभ बच्चन ने जीता सबका दिल, 1348 किसानों का चुकाया 10 करोड़ का कर्ज*

 

मुंबई। बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन ने उत्तर प्रदेश के एक हजार से अधिक किसानों का कर्ज चुकाया है। साथ ही वाराणसी समेत पूर्वांचल के 51 किसानों को अमिताभ ने मुंबई आमंत्रित किया और उनका कर्ज चुकता करने के साथ उन्हें मायानगरी के प्रमुख स्थानों का भ्रमण कराने के साथ ही रात्रि भोज भी कराया।
अमिताभ बच्चन और बैंक ऑफ इंडिया ने संयुक्त रूप से उत्तर प्रदेश के 27 जिलों के 1348 किसानों का लगभग 10 करोड़ रुपये कर्ज चुकाया। 51 किसानों को निजी तौर पर महानायक ने मुंबई आमंत्रित किया। 26 नवंबर को अमिताभ और उनकी बेटी श्वेता ने किसानों से मुलाकात कर बैंक के कागजात सौंपे। उन्हें ओटीएस (ओटीएस: वन टाइम सेटलमेंट विद बैंक ऑफ इंडिया) प्रमाणपत्र दिए।
बेटी श्वेता ने अपने हाथों से उनसब को OTS दिया ; बेटी घर की लक्ष्मी होती है – लक्ष्मी के हाथों से लक्ष्मी दी।
वाराणसी के 10, चंदौली के 34 और भदोही के सात किसानों ने महानायक से मुलाकात की। अमिताभ ने ट्वीट कर इन किसानों का कर्ज चुकाने की जानकारी दी। बिग बी ने ट्वीटर पर लिखा कि उत्तर प्रदेश के किसानों से मुलाकात कर 1398 में से कुछ को ओटीएस प्रमाणपत्र दिए। उन्होंने कहा कि घर की लक्ष्मी, बेटी ने उन्हें ओटीएस प्रमाणपत्र सौंपे। बेटी श्वेता, हमारे घर की लक्ष्मी। उन्होंने अपने ब्लॉग पोस्ट में श्वेता के साथ कुछ तस्वीरें भी साझा कीं।
बैंक ऑफ इंडिया के जोनल कार्यालय के अंतर्गत आने वाले 27 जिलों के किसानों को कर्ज माफी के लिए चुना गया। आंचलिक प्रबंधक शंकर सेन की अगुवाई में प्रबंधक कृषि एवं वित्त विभाग आंचलिक कार्यालय, बैंक ऑफ इंडिया के विकास डे, अंबुज यादव, सिद्धार्थ तिवारी, अरविंद कुमार दुबे आदि कार्यक्रम में शामिल हुए। एनपीए खातों से जुड़े किसानों का कर्ज अदा किया गया। एलडीएम मिथिलेश कुमार ने बताया कि किसान व बैंककर्मी 28 नवंबर को वाराणसी लौट आएंगे।
आपको बता दें कि ये कोई पहला मौका नहीं है जब अमिताभ बच्चन ने किसानों का कर्ज माफ करने की ओर कदम बढ़ाया है। इससे पहले 2017 में अभिनेता ने 350 से अधिक किसानों का कर्ज चुकाने के साथ ही महाराष्ट्र के 44 शहीद जवानों के परिवारों की मदद की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »