इंदौर डिविजनल आफथेलमोलाजीकल सोसायटी का वार्षिक सम्मेलन शनिवार से, 300 से अधिक डॉक्टर होंगे शामिल

247 Views

इन्दौर। नेत्र रोग विशेषज्ञ चिकित्सकों की अग्रणी संस्था इंदौर डिविजनल आफथेलमोलाजीकल सोसायटी का वार्षिक सम्मेलन शनिवार और रविवार को ब्रिलियेन्ट कन्वेंशन सेंटर में आयोजित किया जा रहा है। संस्था 50 वें वर्ष में प्रवेश कर रही है।
संस्था सचिव डॉ. अंशु खरे ने बताया कि यह आयोजन 8 जून को प्रातः 8.30 बजे से प्रारंभ होगा और रविवार सांय 4.30 बजे तक संपन्न होगा। इसमें कुल 4 हाल में 21 सत्र आयोजित होंगे। कार्यक्रम का उद्घाटन सायंकाल 7 बजे संपन्न होगा जिसमें पद्मश्री डॉ. जे. टिटियाल (एम्स न्यू देहली) मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित रहेंगे जिसमें डॉ. उलका श्रीवास्तव एक्स. डायरेक्टर मेडिकल एजुकेशन म.प्र. का लाईफ टाईम एचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित किया जाएगा।
उन्होंने यह भी कहा कि यह सम्मेलन सतत मेडिकल शिक्षा के मूल सिद्धान्तों पर आयोजित किया जाता है इसमें इस वर्ष 325 के लगभग नेत्र विशेषज्ञ एवं 150 के लगभग ट्रेड डेलिगेट्स पधारेगे। इसमें सिनियर नेत्र विशेषज्ञ अपनी फिल्ड में आ रहे परिवर्तन व नवीन चिकित्सा की तकनीक पर व्याख्यान देंगे, जिसका फायदा सभी डेलीगेट्स को प्राप्त होगा और अपने ज्ञान को उस विषय में अपडेट करते है।

ज्ञात हो कि डिविजनल लेवल पर इस तरह का कार्य करने वाली देश की 2-3 संस्थाओं में से यह संस्था एक है।
आयोजन में देश और विदेश के नामी डाक्टर्स उपस्थित रहेंगे। इसमें प्रमुख रूप से यू.एस. से. चंद्रशेखर छावन, मलेशिया से डॉ. केनिथ फांग, सिंगापुर से डॉ. रूपेश अग्रवाल, नई दिल्ली से डॉ. जे.एस. टिटियाल, हुबली से डॉ. कृष्णा प्रसाद, मुम्बई से डॉ. नितिन बालक, डॉ. शेरलेकर एवं डॉ. अमित जैन, मदुराई डॉ. शमा शेरियल, कोयम्बटूर से डॉ. के. एम. रासन, डॉ. थेन्नरासन, चेन्नई से धनश्री रत्रा एवं विनीत रत्रा, बैंगलोर से सुषमा तेजवानी, कलकत्ता से डॉ. विश्वास एवं प्रदेश के वरिष्ठ एवं कनिष्ठ नेत्र रोग विशेषज्ञ चिकित्सा विभित्र विषयों जैसे कॉर्निया, कांचबिंद, रेटिना, मोतियाबिंद पर अपने अनुभव व नवीन संभावनाओं पर अपने विचार प्रस्तुत करेंगे जो नेत्र रोग के छात्रों एवं प्रेक्टिस कर रहे चिकित्सकों के लिए लाभदायी होते है।
संस्था के प्रचार विभाग के डॉ. महेश सोमानी ने बताया कि ‘ये आयोजन लगातार 21 सत्रों में दो दिन में संपन्न होंगे। इस आयोजन में ओ.पी.एल. एवं पेंटाथलान विशेष आकर्षक है। प्रस्तुतीयां नये आयाम में दी जावेगी। इसके बाद हमारे डेलीगेट छात्रों के लिए तीन अवार्ड दिये जाते है जिसके लिए वे अपने पेपर (शोध) प्रस्तुत करेंगे ।’

ट्रेड एवं आवास समिति के डॉ. सतीश प्रेमचंदानी, डॉ. शरद अग्रवाल एवं डॉ. आदित्य अग्रवाल ने बताया कि इसमें विभिन्न कंपनियां दवाई, इन्स्ट्रूमेंट एवं इक्यूपमेंट के 60 स्टॉल में अपने उत्पाद प्रदर्शित करती है जो चिकित्सकों को एक स्थान पर देखने व खरीदने में सुविधाएं मिलती है एवं कभी कंसेशन भी प्राप्त होता है। क्लिनिकल सचिव डॉ. मनुश्री गोतम ने बताया कि इसमें एक क्विज छात्रों के लिए आयोजित कि जाती है जिसमें नेत्र रोगो इलाज एवं बिमारियों के विषय में प्रश्नोंत्तर होते है जिसमें जितने वाली टीम को पुरस्कृत किया जाता है। उपाध्यक्ष डॉ. महेश गर्ग ने बताया कि इसमें नेत्र रोगो की विभिन्न विधाओं पर हेण्डस ऑन ट्रेनिंग कि भो व्यवस्था की गई है। यह ऑल इंडिया नेत्र चिकित्सक संघ कि प्रयोगशाला के सहयोग से दिल्ली के बाहर होने वाला यह पहला आयोजन है जिसमें डॉक्टर्स विभिन्न मशीनों पर खुद काम करके प्रेक्टिस कर सकते है।

Translate »